क्यों ग्रिड कनेक्टेड सोलर सिस्टम की मांग दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है ?

पुणे, महाराष्ट्र: पुणे इंडिया का दूसरा सबसे बड़ा आईटी इंडस्ट्री हब है, जो की हरित पर्यावरण के लिए प्रसिद है। पुणे उन शहरो में से एक है जहाँ लोग नई टेक्नोलॉजी और कल्चर सबसे पहले स्वीकार करते है। यहाँ पर हायर एजुकेशन के लिए कई फेमस Educational Institutions जो Oxford of the East के नाम से जाना जाता है। यहाँ पर Electric Vehicles का ट्रेंड बढते के साथ ही सोलर एनर्जी का ट्रेंड बढता जा रहा है।

 

पुणे में सोलर सिस्टम क्यों लगाये जा रहें है?

  1. लॉक डाउन के बाद बिजली बिल का रीडिंग स्टार्ट हुआ है जिसके कारन बिजली का बिल बहुत ज्यादा आ रहा है। महाराष्ट्रा में इलेक्ट्रिसिटी बिल अन्य राज्यों के मुकबले ज्यादा महगा है।
  2. लॉक डाउन में Two Wheelers की डिमांड तेजी से बढ़ी है। खाशकर Electric Wheelers का जिसमे इलेक्ट्रिक Cycle और Scotty ज्यादा है।

 

पुणे ऐसे शहर में लोगो को रहने का लाइफ स्टाइल काफी अलग है। घरो में कूलर, एयर कंडीशनर, फ्रिज, टीवी के साथ लाइट, पंखा आम सी बात है. तो यहाँ घरो का बिजली का बिल 1500 से 5000 रुपये तक है।

 

यदि किसी के घर पर Electric Vehicles है तो उनके घर का इलेक्ट्रिसिटी कंसम्पशन 2 से 3 यूनिट्स पर डे बढ़ सकता है। यानि कि 15 से 25 रुपये प्रति दिन।

इसका फयदा क्या है?

इंडिया में AC Module आने से Home Owners को बहुत ही सुबिधा मिला है। जितना उनको जरुरत है उतना ही सोलर सिस्टम लगा सकते है और जैसे-जैसे घर पर इलेक्ट्रिसिटी का कंसम्पशन बढेगा वैसे सोलर सिस्टम बढ़ा सकते है। पुणे के निवाशी SUYOG MIRAJKAR ने 5kW ग्रिड कनेक्टेड सोलर सिस्टम का इंस्टालेशन करवाए हैं।  

यह कैसे काम करता है?

AC Module लेटेस्ट टेक्नोलॉजी ग्रिड कनेक्टेड सोलर सिस्टम है जो दिन के समय बिजली बनाता है। यानि कि दिन के समय में जो भी घर का लोड चलेगा वो सोलर सिस्टम से चलेगा। इस सिस्टम के साथ एक बैटरी बैंक भी रखना जरुरी होता है। जब इलेक्ट्रिसिटी 5 से 10 मिनट्स के लिए चला जाता है तो आपके घर पर बेसिक appliances चलता रहें।

इसे किसने इनस्टॉल किया है?

इस सोलर सिस्टम की अधिक जानकारी के लिए लूम सोलर और डिस्ट्रीब्यूटर मिस्टर जयेश 

पाटिल से सम्पर्क कर सकते है । यदि आप भी इस प्रकार की समस्या से परेशान है आप भी सोलर सिस्टम के बारें में सोच सकते है।

Previous article 6kW के सोलर पैनल इंस्टालेशन इन मथुरा, उत्तर प्रदेश
Next article 3 किलो वाट हाइब्रिड सोलर सिस्टम इंस्टालेशन इन बीड, महाराष्ट्र

Leave a comment

* Required fields