कैसे मिलेगी Food Processing Unit पर सोलर सब्सिडी?

आज के समय में भारत में फूड प्रोसेसिंग का दायरा काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। बता दें कि इस तकनीक में किसी Food Product या Drink Product को एक फॉर्म से दूसरे में प्रोसेस कर के रखा जाता है जैसे कि आम से अचार बनाना, टमाटर से चटनी बनाना और उसे बेचना। बता दें कि फूड प्रोसेसिंग एक तरह की टेक्नोलॉजी है, जिसका अर्थ है Agriculture Product में प्रोसेसिंग के जरिए वैल्यू एडिशन करना है।

बता दें कि किसी भी फूड प्रोसेसिंग यूनिट (Food Processing Unit) को चलाने के लिए आपको काफी बिजली की जरूरत पड़ती है और यदि बिजली की अच्छी सुविधा न हो तो आपको काफी परेशानी आती है। साथ ही, बिजली के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण आपको महीने के अंत में बिजली बिल भी काफी आता है।ऐसे में आप इन समस्याओं से निपटने के लिए अपने फूड प्रोसेसिंग यूनिट (Food Processing Unit) में सोलर सिस्टम (Solar System) लगा सकते हैं। आज के इस लेख में हम बताने जा रहे हैं आपको इसके कुछ फायदे - 

कितनी सब्सिडी मिलती है? 

बता दें कि फूड प्रोसेसिंग यूनिट (Food Processing Unit) में सोलर सिस्टम (Solar System) लगाने के बाद आपको सरकार द्वारा 90 प्रतिशत तक की सब्सिडी मिलती है। बता दें कि आपको यह सब्सिडी केवल सोलर सिस्टम के लिए मिलती है। वहीं, अन्य मशीनरी के लिए आपको सरकार द्वारा अलग - अलग सुविधाएं मिलती हैं।

बता दें कि आज के समय में सरकार द्वारा इस दिशा में लोगों को आकर्षित करने के लिए PRADHAN MANTRI FORMALISATION OF MICRO FOOD PROCESSING ENTERPRISES SCHEME यानी PMFME स्कीम चलाई जा रही है। वहीं, यदि आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं तो आपको UPFPP स्कीम का लाभ भी मिल सकता है।

इन योजनाओं के आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए क्लिक करें -

https://pmfme.mofpi.gov.in/pmfme/#/Home-Page

https://pmfme.uphorticulture.in/

योजना का उद्देश्य

जैसा कि ऐसे फूड प्रोसेसिंग यूनिट को चलाने के लिए आपको काफी बिजली की जरूरत होती है। तो सवाल उठता है कि बिजली आएगी कहां से?

तो इसके लिए कुछ योग्यता मानदंड निर्धारित किए गये हैं, जो नीचे हैं -

  • आपका बिजनेस ऐसे एरिया में होना चाहिए, जहां आपको Rural Feeder से बिजली मिलती हो।
  • यदि आप इन योजनाओं के अंतर्गत 90 प्रतिशत तक सोलर सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं, तो Business Owner किसी महिला को होनी चाहिए।
  • पुरुषों के लिए 50 प्रतिशत सोलर सब्सिडी की व्यवस्था है। 
  • आप सोलर सिस्टम चाहे जितनी भी क्षमता का लगा लीजिए, आपको सब्सिडी केवल 70 किलो वाट तक के सोलर सिस्टम तक मिलेगी। 
  • आपके पास सभी जरूरी डॉक्यमेंट्स होने चाहिए।
  • यदि आप Presentation देने जा रहे हैं, तो आपका Business Owner होना जरूरी है।

किस तरह का सोलर सिस्टम लगा सकते हैं 

बता दें कि इस योजना के अंतर्गत आप बाजार में उपलब्ध सबसे बेस्ट सोलर सिस्टम (Best Solar System in India) को लगा सकते हैं। जैसे कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हमारे एक कस्टम ने अपने यूनिट में ऑनग्रिड सोलर सिस्टम (On Grid Solar System) लगाया और उन्होंने इसके लिए लूम सोलर के Top Con Solar Panel, Micro Inverter और BOS (Balancing of System) का इस्तेमाल किया। 

Rice Mill भी चला सकते हैं

बता दें कि आज के समय में सोलर एनर्जी के मार्केट में Rice Mill एक बहुत बड़ा Consumer Base है। इसे चलाने के लिए आपको कम से कम 500 KWA का ट्रांसफॉर्मर चाहिए होता है और इसका Sanctioned Load लगभग 400 केवी होता है। लेकिन, आज के समय में पूरे देश में Power Cut की समस्या काफी बढ़ गई है और साथ ही, इलेक्ट्रिसिटी रेट भी काफी हाई हो गया है। इसी कारण से ग्रिड पर Rice Mill चलाना काफी महंगा हो गया है। बता दें कि आज के समय में एक Rice Mill को चलाने में हर महीने 4 से 4.5 लाख रुपये का बिजली बिल काफी आराम से आता है। 

ऐसे में, आप इन समस्याओं से निपटने के लिए अपने यहाँ सोलर सिस्टम लगा सकते हैं। बता दें कि आपको यहाँ 70 किलो वाट तक का सोलर सिस्टम तो सरकारी सब्सिडी के कारण लगभग फ्री में लग जाएगा, बाकी पैसों का इंतजाम आप बैंक से सोलर लोन (Solar Loan) ले कर कर सकते हैं। क्योंकि, आज के समय में Car Loan और Home Loan की तरह सोलर लोन भी बाजार में काफी आसानी से उपलब्ध है। यहां आपको केवल 20 प्रतिशत डाउन पेमेंट करना पड़ता है।इस विषय में अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें - https://loan.loomsolar.com/

सरकार को भी बेच सकते हैं बिजली

बता दें कि यदि आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं, तो वहां की सरकार ने सोलर सिस्टम से बनने वाली बिजली को खरीदने की बात कही है, जिसे Net Feeding या Net Metering भी कहा जाता है। बता दें कि यहां सरकार आपके 3.5 रुपये प्रति यूनिट बिजली खरीदती है।

बता दें कि आज के समय में कोई भी Rice Mill साल में लगभग 6 महीने ही चलती है और 6 महीने बंद रहती है। ऐसे में, आप अपने Rice Mill के बंद होने के बाद भी सोलर सिस्टम से बनने वाली बिजली को सरकार को बेच सकते हैं और इससे अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं। 

लूम सोलर की भूमिका

बता दें कि आप यदि ऐसा कुछ करना चाहते हैं, तो आज के समय में यूपी समेत कई राज्यों में हमारे कई ऐसे Partners हैं, जो इस स्कीम को लेकर काम कर रहे हैं। यदि आप इसका लाभ उठाना चाहते हैं, तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं।

निष्कर्ष

यदि आप अपने घर, बिजनेस या किसी भी अन्य स्पेस में सोलर सिस्टम लगा कर खुद को बिजली के मामले में पूरी तरह से आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं, तो अभी हमसे संपर्क करें। हमारे एक्सपर्ट्स आपकी मदद के लिए हमेशा ही तैयार रहते हैं। आपकी जरूरतों को समझते हुए, वे आपकी साइट पर जाएंगे और आपको Solar Installation के हर मोड़ पर पूरी मदद करेंगे।

2 comments

Sandhya Rani Gupta

Sandhya Rani Gupta

100kw solar system for atta chakki plant

Mohit agarwal

Mohit agarwal

Solar subsidy
9415133685

Leave a comment