चलाना  है  अपनी  inverter battery को  लम्बा ? आज़माएं  यह  कुछ  तरीकें !

क्या  आपने  कुछ  घंटे  या  काफ़ी  सारा  वक़्त  बिना  बिजली  के  बितायी  हैं, ख़ासकर  के  गर्मियों के  मौसम  में ? ऐसे  हालात  में  आपके  दिमाग  में  यह ख़याल  ज़रूर  आया  होगा  कि  काश  आप  बिजली  का  मज़ा  हर  समय , बिना  रुकावट  के  ले  पातें ! तो  इस  समस्या  से  बचने  के  लिए  inverter battery आपके  लिए  बिकुल  सही है . और  उसे  अच्छे-खासे  वक़्त  के  लिये  चलाने के कई  तरीकें  हैं. 

आज  के दौर में  सिर्फ  घर , कपड़ा  और  मकान  ही  नहीं , बल्कि  और  भी  कई  चीज़ें  हैं  जो  बेहद्द  ज़रूरी  हैं . और  बिजली  उनमें  से  एक  ज़रुरत  है . आज  ज़्यादातर  चीज़ों  के  लिए बिजली की  ज़रुरत  होती  है - फ़ोन  चार्ज  करने  से  लेकर  फ्रिज  चलाने  तक . Transformer या solar panel से बिजली हम तक पहुँच तो जाती है, लेकिन वो ऐसे ही इस्तेमाल नहीं हो सकती. और  उस  बिजली को बाद में  इस्तेमाल करने के लिए  बचकर रखना हो, तो वो  भी  ऐसे ही नहीं हो सकता है . इन दोनों ही कामों के लिए  एक बोहोत ही ज़रूरी डिवाइस की ज़रुरत होती है- inverter battery. जैसे हर  सामान का  ख्याल  रखना ज़रूरी है, वैसे ही  inverter battery जैसे इलेक्ट्रॉनिक सामानो  का ख्याल रखना भी ज़रूरी है.

सबसे पहली बात तो यह है कि आज के ज़माने में  inverter battery दो तरह की होती है - lead-acid  और  lithium-ion. इन दोनों में से , lead-acid inverter battery का ख्याल रखना  ज़्यादा ज़रूरी और  मुश्किल होता है. Lead-acid काफी समय से लोग इस्तेमाल करते आ रहे हैं। जबकि lithium-ion battery का इस्तेमाल हाल ही में होना शुरू हुआ है.  Lithium-ion inverter battery का इस्तेमाल करना और ख्याल रखना काफी आसान है, पर lead-acid inverter battery का नहीं। इसीलिए, lead-acid Inverter battery का ध्यान रखने के लिए आज़माएं यह तरीकें:

Lead-acid inverter battery को ऐसी जगह जो अछि-ख़ासी हवादार हो, में रखना बहुत ज़रूरी है. क्यूंकि यह काफी जल्दी काफी गर्म हो जाती है जो इसके “सेहत” के लिए अच्छा नहीं.

हवा के अलावा, lead-acid inverter battery को पानी की भी ज़रुरत होती है. इसीलिए इसमें बार-बार पानी डालना भी ज़रूरी है. पर, इसका भी ख्याल रखें की आप डिस्टिल्ड पानी का  इस्तेमाल करें,न की नल का या बारिश का. इसका कारण यह है कि  उनमे ढेर सारे मिनरल और अशुद्धियाँ होते हैं जो आपकी इन्वर्टर बैटरी पर  बुरा असर कर सकते हैं.


इनके अलावा, इसका भी ख़याल रखें की battery के संस्तर और किनारों पर  धुल-मिट्टी न जमें, नहीं तो यह आपकी battery के काम करने में बाधक हो सकती है.

सिर्फ धुल-मिट्टी ही नहीं, बल्कि आपकी inverter battery के terminals पर जंग लगना  भी सही नहीं है, क्यूंकि इससे  battery की charging और recharging में दिक्कत आने की संभावनाएं बढ़ जाती है. अगर वहां जंग लग चुकी है, तोह आप उन्हें baking soda वाले गर्म पानी से धो सकते हैं और किसी भी पुराने टूथब्रश से रगड़कर उनपर जमी जंग को उतार सकते हैं. इसके बाद, उनपर वेसिलीन या कोई भी पेट्रोलियम जेली  लगा दें.


इन सब बातों का ख्याल रखने के अलावा, अपनी inverter battery के installation के बाद, महीने में काम से काम एक बार उसे डिस्चार्ज और रिचार्ज ज़रूर करें।

एक आखरी बात का ख़याल भी रखें कि inverter battery का वॉटर लेवल हमेशा मैक्सिमम और मिनिमम लेवल के बीच ही रहें।

Leave a comment

ਸਭ ਤੋਂ ਵੱਧ ਵਿਕਣ ਵਾਲੇ ਉਤਪਾਦ