जानिए कैसे पाएँ सरकारी बिजली से छुटकारा?

कोयले की घटती बढ़ती Supply, बिजली के लम्बे लम्बे कट, बिजली बिल की लगातार बढ़ती औसत, इन सब का कोई सुदृढ़ विकल्प होना बहुत आवश्यक है। हाल ही में Prepaid meter के अनिवार्य होने की बात हो रही है, यानी कितनी बिजली इस्तेमाल होगी यह इस पर निर्भर करेगा की कितने का recharge करवाया है। पर इस से बिजली दर में कोई बदलाव नहीं होगा और यह बिजली कट का भी कोई प्रभावी समाधान नहीं है। इन सब के बीच एक कारगर और कुशल समाधान है सौर ऊर्जा या Solar Power System.

कैसे होगा इस से फ़ायदा?


भारत में लगभग हर प्रांत में सूर्य की भरपूर रोशनी साल में औसतन 300 दिन रहती है, जिसका सुचारु रूप से उपयोग किया जाए तो हमारे घर की छत की मदद से हम इस सौर ऊर्जा से बिजली उत्पन्न कर सकते हैं।

यह बिजली किसी भी घर की मूल ज़रूरतें पूरी करने में सक्षम है। यानी घर की ख़ाली छत अब बन सकती है बिजली का स्रोत और आपका घर हो सकता है बिजली के मामले में आत्मनिर्भर। इस सोलर पावर सिस्टम को Rooftop Solar के नाम से भी जाना जाता है।

कैसे चुने सही Rooftop solar?


सही Rooftop Solar Solution को जानने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है यह जानकारी रखना की घर में कितने उपकरण एक साथ किसी भी मौक़े पर चलेंगे यानी peak load कितना होगा । इसकी समझ बहुत ज़रूरी है। एक घर में दिन और रात के समय और मौसम के हिसाब से ज़रूरत भी बदलती रहतीं है। जैसे गर्मियों में कूलर या AC और सर्दियों में geyser।

बदलते दौर के साथ सोलर पावर प्लांट या solar system में लगातार बेहतर तकनीक की मदद से बदलाव आ रहे हैं। ऐसे में सबसे efficient solar system को ख़रीदना एक सूझ बूझ की बात होगी।

कैसे करें Calculate बिजली की ज़रूरत?

चूँकि कौन सा उपकरण कितनी बिजली लेता है, और इसको calculate कैसे करते हैं, इसकी जानकारी के अभाव में यह मुश्किल प्रतीत होता है। इसको आसान बनाने के लिए नीचे दिए गए आसान समाधान को अपनाएँ। Load Calculator:https://www.loomsolar.com/blogs/calculator/load-calculator

क्या 3 kW या 3000 watt एक बेहतर Rooftop Solar Solution है?


3000 watt में घर के लगभग सभी उपकरण चल सकते हैं, ज़रूरत है तो अपनी ज़रूरत को सूझ बूझ से इस्तेमाल में लाने की। भारी उपकरण यानी वो उपकरण जो अधिक बिजली का इस्तेमाल करते हैं : वॉटर पम्प, AC, Geyser, Induction heater, Microwave इत्यादि । इनको चलने का समय का चुनाव एक time table के हिसाब से करना समझदारी होगी।

क्या यह रात में भी बिजली प्रदान कर सकता है?

जी हाँ, रात में बिजली बनाने के लिए rooftop solar solution में बैटरी बैंक - यानी 2 battery 150 Ah लगेगी जो लगभग 10-12 hours का backup देने की क्षमता रखती है, जिसमें पंखा. लाइट्स, TV और फ़्रिज जैसे उपकरण आसानी से चल सकते हैं।

Rooftop Solar System कितनी जगह लेगा?

rooftop space

3kW Rooftop solar system को लगाने के लिए लगभग 3 कमरों की छत जितनी ज़रूरत होगी और इसमें यह भी प्रावधान होता है कि इसे elevated लगभग 1.5 m की height पर भी लगाया जा सकता है। इस से छत किसी और प्रयोग में भी लाई जा सकती है।

यह 3 kW वाला सोलर सिस्टम कितने का है और क्या इस पर Rooftop Solar Loan मिलेगा?

मात्र 6000 रुपए में 5 साल की EMI में यह सोलर सिस्टम आपके घर को बिजली के बिल से छुटकारा दिला सकता है। अगर आप एक बार में सारे पैसे लगाने के इच्छुक हैं तो यह यह लगभग 3.1 लाख रुपए में लग सकता है। EMI या rooftop solar loan की अधिक जानकारी के लिए: https://www.loomsolar.com/blogs/calculator/emi-loan-calculator

भविष्य में सौर ऊर्जा एक मूल ज़रूरत के रूप में उभर कर आने का कारण बनेगी बिजली की आत्मनिर्भरता क्यूँकि Green Energy देश की एक मज़बूत विकल्प में अपना योगदान देगी।
समय रहते solar system लगवाने से आने वाले समय में बढ़ते बिजली बिलों से आज़ादी मिलेगी और साथ साथ लगभग 20 सालों के लिए बिजली भी Free हो जाएगी।

Leave a comment

ഏറ്റവും കൂടുതൽ വിറ്റഴിക്കപ്പെടുന്ന ഉൽപ്പന്നങ്ങൾ

ജനപ്രിയ പോസ്റ്റുകൾ

  1. Buying a Solar Panel?
  2. Top 10 Solar Companies in India, 2021-22
  3. This festive season, Power Your Home with Solar Solutions in Just Rs. 7000/- EMI!
  4. Top Lithium Battery Manufacturers in World, 2021
  5. How to Buy Solar Panel on Loan?