ये हैं भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले Commerical AC Brands

आज देश के बड़े बड़े होटलों और रेस्टूरेंट, आदि में भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए डोमेस्टिक एसी के बजाय, कमर्शियल एसी का इस्तेमाल किया जाता है। बता दें कि आज शॉपिंग मॉल, रेस्टूरेंट, होटल आदि में अधिकांशतः सेंट्रल एसी का इस्तेमाल किया जाता है।

स्टार रेटिंग है जरूरी

कमर्शियल एक्टिविटी में यदि कोई भी अप्लायंस इस्तेमाल किया जा रहा है, तो ऐसी स्थिति में स्टार रेटिंग अनिवार्य हो जाता है। क्योंकि यदि वे सरकारी नियमों का पालन नहीं करेंगे, तो उन्हें आने वाले समय में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। 

चूंकि, घरों के मुकाबले कमर्शियल जगहों पर Per square meter electricity consumption कई गुना ज्यादा होता है। एक आंकड़े के मुताबिक, भारत में हर साल  घरेलू क्षेत्रों में 80 KWh/m2 बिजली की खपत होती है, जबकि कमर्शियल स्पेस में औसतन 160 KWh/m2 बिजली की खपत होती है। (स्त्रोत - https://www.ijsr.net/archive/v6i3/ART20171783.pdf)

इसकी वजह यह है कि आम तौर पर घरेलू क्षेत्र में एक कमरे में 3-4 लाइट और एक पंखा लगा होता है और इसे चलाने के लिए ज्यादा बिजली की जरूरत नहीं होती है। वहीं, दिन के समय में यदि बिजली न भी हो तो ज्यादा परेशानी नहीं होती है।

लेकिन, कमर्शियल जगहों पर आप देखेंगे कि एक भी कमरे में कई बड़े लाइट लगे हैं और वहाँ एसी, फैन, कूलर जैसे कई मशीनों का इस्तेमाल होता है। 

ऐसे में बिजली की खपत को कम करने के लिए हमें कई एनर्जी एफिशियंट अप्लायंस की लगाना बेहद जरूरी हो जाता है। 

कमर्शियल स्पेस के लिए बेस्ट एसी (Best AC Brands For Commercial Space) 

कमर्शियल स्पेस के लिए Daikin, Voltas, Panasonic, LG जैसे ब्रांड सर्वश्रेष्ठ हैं। इनकी खासियत यह होती है कि ये दूसरे एसी के मुकाबले बिजली की खपत काफी कम करते हैं। इन्हीं कारणों से कमर्शियल स्पेस में इन्हीं की एंट्री होती है।

कमर्शियल एसी की कीमत

आज बाजार में कमर्शियल एसी की कीमत करीब 80 हजार रुपये से शुरू होती है, जो फीचर और टेक्नोलॉजी के हिसाब से 2 से 3 लाख तक जाती है। 

कमर्शियल बिल्डिंग में इन प्रोडक्ट्स को कैसे अपनाया जाता है? 

जैसा कि इन उत्पादों का इस्तेमाल होटल, रेस्टूरेंट, ऑफिस और हॉस्पिटल जैसे जगहों पर होता है। 

आम ग्राहक अपने घरों में लगाने वाले एसी को खरीदने के लिए, किसी भी दुकान पर चले जाते हैं और एसी खरीद कर ले आते हैं। लेकिन यदि किसी हॉस्पिटल में एसी लगाना है, तो यह कोई स्थानीय दुकानदार नहीं करेगा और न ही डॉक्टर एसी की तलाश में कहीं जाएंगे।

बकायदा, एसी लगाने का पूरा फैसला और प्रयास मैनेजमेंट करेगा। इसके लिए सबसे पहले वे किसी स्थानीय इलेक्ट्रिशियन कॉन्ट्रैक्टर की मदद लेते हैं। फिर, वे दाम, गुणवत्ता और सर्विस आदि चेक करने के बाद, अपने हॉस्पिटल में एसी लगवा लेंगे।

क्या है सोलर पैनल की जरूरत?

चूंकि, किसी भी कमर्शियल स्पेस में हर महीने 30-40 हजार से लेकर 1.5-2 लाख तक बिजली बिल आना कोई बड़ी बात नहीं है। उनका यह बिल पूरे बिल्डिंग से भी आ सकता है या एक फ्लोर से भी।

बता दें कि आज जितने भी कमर्शियल बिल्डिंग बनते हैं, उसके लिए एक एरिया आवंटित की जाती है और आप कहीं भी इसे नहीं बना सकते हैं। अन्यथा आपको कई कानूनी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

ऐसे में, किसी का प्लॉट 500 गज का हो सकता है, तो किसी का 1000 गज का। लेकिन कोई भी कमर्शियल बिल्डिंग कम से कम 500 गज का जरूर होता है।

और यदि आप इतने बड़े दायरे में काम करे रहे हैं, तो जाहिर है आपको काफी बिजली की जरूरत होगी।

अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग बिजली बिल 

आज देश के हर राज्य में कमर्शियल क्षेत्र में अलग-अलग बिजली बिल निर्धारित है। बता दें कि यह किसी राज्य में 10 रुपये प्रति यूनिट है, तो किसी राज्य में 15 रुपये या 18 रुपये।

ऐसे में, यदि कोई अपने यहाँ एसी चलाएंगे तो 1 लाख से 1.5 लाख तक बिजली बिल आना सामान्य बात है।

क्या है शर्त

अपने बिजली बिल को नियंत्रित करने के लिए कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है -

  1. जो भी अप्लायंस खरीदें, ध्यान रखें कि वह एनर्जी एफिशियंट हो।
  1. अपनी बिजली की जरूरतों को पूरा करने के लिए, खुद बिजली बनाए। इसके लिए जेनरेटर के मुकाबले, सोलर पैनल सबसे अच्छा विकल्प है। क्योंकि इससे आपको सालों तक निर्बाध और मुफ्त बिजली मिलती रहेगी।

इस तरह, आप अपने बिजली बिल को 30 से 80 फीसदी तक आसानी से कम कर सकते हैं।

कैसा लगेगा सोलर पैनल

कमर्शियल क्षेत्रों में अपनी बिजली की जरूरतों को पूरा करने के लिए, आपको On Grid Solar System लेना होगा, जो बिजली और जनरेटर दोनों पर चलता है।

बता दें कि सोलर पैनल, इन्वर्टर और नेट मीटर इसके मुख्य घटक हैं। लेकिन कहीं कहीं नेट मीटर लगाने की छूट नहीं है, तो ऐसी स्थिति में आप Solar Zero Export Device लगा सकते हैं। इस तरह, उनका दिन में बिजली बिल लगभग न के बराबर हो जाता है।

निष्कर्ष

यदि आप अपने यहाँ सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं, तो इसके लिए सबसे पहले एक इंजीनियर विजिट जरूरी है। क्योंकि यह काम कोई अप्रशिक्षित पेशेवर नहीं कर सकता है। इसे लेकर विश्वसनीय जानकारी हासिल करने और अपना पहला कदम बढ़ाने के लिए हमसे संपर्क करें। हमारे इंजीनियर मात्र 1000 रुपये की मामूली फीस पर आपके साइट पर जाएंगे और आपकी जरूरतों को समझते हुए, सोलर पैनल लगाने में पूरी मदद करेंगे।

Leave a comment

Top selling products

Loom Solar Engineer VisitEngineer Visit
Loom Solar Engineer Visit 28 reviews
Sale priceRs. 1,000 Regular priceRs. 2,000
Reviews
Dealer RegistrationLoom Solar Dealer Registration
Loom Solar Dealer Registration 256 reviews
Sale priceRs. 1,000 Regular priceRs. 5,000
Reviews