कैसे उठाएं Loan, जानिए हर पहलू!

हम सभी अपने जीवन में ऋण यानी Loan कभी न कभी किसी से लेते ही हैं। इस लोन को आप अपने किसी परिचित, बैंक या कंपनी से लेते हैं और एक निश्चित समय पर, तय ब्याज के साथ चुकाते हैं।आइये जानते हैं इसके बारे में कुछ खास बातें

क्या होता है लोन? (What is loan)

बता दें कि लोन एक निश्चित समय पर फिर से भुगतान करने के वादे पर लिया गया धन है। इसके तहत आप उधार दी गई राशि के एवज में, एक निश्चित समय पर मूल राशि के साथ निश्चित ब्याज के साथ अपना कर्ज चुकाते हैं। बता दें कि आज लोग लोन शादी ब्याह के मौकों के अलावा, घर खरीदने, स्कूल या कॉलेज की फीस चुकाने या किसी अन्य संसाधनों की पूर्ति के लिए करते हैं। 

हालांकि, कई लोग लोन लेने के बाद समय पर पैसे नहीं चुका पाते हैं, जिससे उन्हें अपने जीवन में कई वित्तीय और कानूनी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इसलिए इस विषय में जागरूकता अनिवार्य है। 

कितने प्रकार के होते हैं लोन? (How many types of loans are there) 

भारत में कई तरह के लोन उपलब्ध हैं, जिन्हें निम्न दो श्रेणियों में बाँटा गया है -

  • सुरक्षित ऋण
  • असुरक्षित ऋण

बता दें कि सुरक्षित ऋण, वैसे ऋण होते हैं, जिसके तहत ऋण की राशि के बराबर कोई संपत्ति दाखिल की जाती है। इसके तहत सावधि जमा पर ऋण, म्युचुअल फंड और शेयरों पर ऋण, गोल्ड लोन, बीमा पॉलिसियों पर ऋण, संपत्ति पर ऋण (एलएपी), होम लोन जैसे लोन होते हैं।

वहीं,  असुरक्षित ऋण के तहत वैसे ऋण होते हैं, जिसे बिना किसी कवर के प्रदान किया जाता है। बता दें कि ये लोन चुकौती इतिहास, उधारकर्ता के क्रेडिट स्कोर और अन्य चीजों पर निर्भर करता है। इसके तहत व्यक्तिगत ऋण, वाहन ऋण, एजुकेशन लोन, फ्लेक्सी लोन, अल्पकालिक व्यापार ऋण, व्हीकल लोन आदि आते हैं।

लोन के लिए किन कागजातों की जरूरत पड़ती है? (What documents are required for loan)

बता दें कि यह आप बैंक से लोन की सुविधा का आनंद उठाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अपने बैंक खाता संख्या के साथ आधार कार्ड, वोटर कार्ड और पैन कार्ड, बैंक स्टेटमेंट, आय प्रमाण, रोजगार / व्यवसाय निरंतरता प्रमाण, 2 पासपोर्ट साइज फोटो, पहचान का सबूत, पते का सबूत, आपके आयकर रिटर्न की एक प्रति, फॉर्म 16 जैसे कागजातों को जमा करने होंगे।

ऋण पर ब्याज दर की गणना कैसे करें? (How to calculate interest rate on a loan)

बता दें कि भारत में लोन 6 प्रतिशत से लेकर 15 प्रतिशत ब्याज दर पर आसानी से मिल जाते हैं। ये ब्याज दरें बाजार के उतार चढ़ाव सरकार व भारतीय रिज़र्व बैंक की नीतियों के अनुसार ऊपर नीचे होते रहते हैं। इसके लिए आपको बाजार पर कड़ी नजर रखनी होगी। यदि आप इसे कैलकुलेट करना चाहते हैं, तो इसके लिए अपनी सुविधा अनुसार बैंक, राशि और अवधि चुन लें और आज इंटरनेट पर ऐसे कई पोर्टल हैं, जिससे आप यह पता लगा सकते हैं कि आपको कितनी ब्याज दर देनी होगी। जैसे - Groww, EMI Calculator, Personal Loan EMI Calculator by Bajaj Finserv आदि।

व्यक्तिगत ऋण क्या है? (What is a personal loan)

बता दें कि यह ग्राहकों के लिए एक ऐसी ऋण सुविधा है, जिसका इस्तेमाल आप विषम परिस्थितियों में अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने क लिए कर सकते हैं। पर्सनल लोन का फायदा उठाना काफी आसान है, क्योंकि इसके लिए आपको कुछ भी गिरवी रखने की जरूरक नहीं होती है और पैसे को इस्तेमाल किए जाने के तरीके पर अधिक पाबंदियां भी नहीं होती हैं।

व्यक्तिगत ऋण कैसे प्राप्त करें? (How to get a personal loan)

जैसा कि पर्सनल लोन को हासिल करने के लिए आपको कुछ भी गिरवी रखने की जरूरत नहीं होती है और इसे आप किसी भी बैंक से कुछ ही समय में पास करवा सकते हैं।

बता दें कि इस लोन को आपकी उम्र, मासिक कमाई और उचित दस्तावेज के आधार जारी किया जाता है और उसी पर ब्याज दर व लोन भुगतान अवधि तय होती है। इस लोन का फायदा सिर्फ 21 से 60 साल के बीच के लोग ही उठा सकते हैं।

पर्सनल लोन के लिए कौन सा बैंक सबसे अच्छा है (Which bank is best for personal loan)           

बता दें कि आम तौर पर पर्सनल लोन आपको 8 से 12 प्रतिशत के ब्याज दर पर मिलता है। इसके लिए आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, पीएनबी, बैंक ऑफ बड़ौदा जैसे बैकों का चयन कर सकते हैं।

होम लोन ईएमआई की गणना कैसे करें? (How to calculate home loan EMI)

बता दें कि EMI का अर्थ इक्विटेड मंथली इंस्टालमेंट होता है। इसके तहत मूल धन का रीपेमेंट किया जाता है और इसमें आपके होम लोन की बकाया राशि पर ब्याज के भुगतान को भी शामिल किया जाता है।

इसे कैलकुलेट करने के लिए फार्मूला निम्न है -

P x R x (1+R)^N / [(1+R)^N-1] जहां -

P = मूल ऋण राशि

N = लोन की अवधि (महीनों में)

R = मासिक ब्याज दर

आपके लोन पर ब्याज़ दर (R) की गणना प्रति माह की जाती है.

R = वार्षिक ब्याज दर/12/100

यदि वार्षिक ब्याज दर 7.2% है, तो r = 7.2/12/100 = 0.006 होगा

20 लाख के होम लोन की ईएमआई क्या है? (what is the emi for 20 lakhs home loan)

बता दें कि 20 लाख रुपये की होम लोन की ईएमआई इस बात पर निर्भर करेगी कि आपने इसे कितने समय तक के लिए लिया है। जैसे - यदि आपने इसे 5 साल के लिए लिया है, तो इसके लिए आपको हर महीने 8 प्रतिशत ब्याज दर से करीब 40 हजार रुपये चुकाने होंगे। यदि आपने लोन 30 साल के लिए लिया है, तो आपको हर महीने करीब 15 हजार चुकाने होंगे।

मुझे 20000 वेतन पर कितना होम लोन मिल सकता है? (how much home loan can i get on 20000 salary)

यदि आपका मासिक वेतन 20 हजार के करीब है और आपने पहले कोई लोन नहीं लिया है, तो आपको किसी भी बैंक से 2 साल के लिए 2 से 5 लाख का लोन आसानी से मिल सकता है। इसके लिए आपको 8 से 25 प्रतिशत का ब्याज दर देना पड़ सकता है।

निष्कर्ष

हमें यकीन है कि ‘लोन क्या है’ विषय पर आधारित यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा।  यदि आप ऐसे ही रोचक और जरूरी विषयों के बारे में नियमित रूप से जानना चाहते हैं, तो बने रहें हमारे साथ और बनाएं अपनी जिंदगी बेहद आसान।

इसके अलावा, यदि आप अपने घर में सोलर सिस्टम लगाना चाहते हैं और खुद को बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनाना चाहते है, तो अभी हमसे संपर्क करें। हमारे विशेषज्ञ आपकी मदद के लिए हमेशा ही तैयार रहते हैं।

Leave a comment

Top selling products

Loom Solar Engineer VisitEngineer Visit
Loom Solar Engineer Visit 28 reviews
Sale priceRs. 1,000 Regular priceRs. 2,000
Reviews
Dealer RegistrationLoom Solar Dealer Registration
Loom Solar Dealer Registration 256 reviews
Sale priceRs. 1,000 Regular priceRs. 5,000
Reviews