सोलर सेक्टर से जुड़, किसान कर सकते हैं लाखों की आय सुनिश्चित!

भारत को एक कृषि प्रधान देश माना जाता है और आजादी के 70 वर्षों के बाद भी देश की करीब 50 फीसदी आबादी खेती किसानी पर निर्भर है। लेकिन, ग्रामीण इलाकों में बिजली की भारी समस्या के कारण, उन्हें अपने फसलों की सिंचाई में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और अपनी फसलों को बचाने के लिए उन्हें मजबूरन डीजल इंजन का इस्तेमाल करना पड़ता है। 

लेकिन, आज के दौर में पेट्रोल-डीजल का दाम सातवें आसमान पर है, जिससे किसानों की आमदनी काफी बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। वहीं, अत्यधिक बिजली कटौती और लो वोल्टेज के कारण उनकी दुश्वारी और बढ़ जाती है।

किसानों के इन्हीं चिन्ताओं को देखते हुए, केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कुसुम योजना को शुरू किया गया है, जिसके तहत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर सिस्टम की सुविधा दी जाती है।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत, किसानों को सोलर पम्प लगाने में आने वाले कुल खर्चे का 90 प्रतिशत सरकार द्वारा वहन किया जाता है और शेष 10 फीसदी किसानों को अपनी जेब से भरनी पड़ती है।

सरकार किसानों को सोलर पम्प खरीदने पर, 60 फीसदी सब्सिडी के रूप में देती है, तो 30 फीसदी कर्ज के रूप में। सोलर सिस्टम के जरिए बनने वाली बिजली का इस्तेमाल किसान अपने खेती कार्यों में कर सकते हैं, जबकि अतिरिक्त बिजली को वह वापस सरकार को बेच सकते हैं। वहीं, किसान आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल कर, इसे पूरी तरह से पोर्टेबल भी बना सकते हैं, ताकि उन्हें मोटर को ले जाने और आने में कोई दिक्कत न हो।

आज हम अपने किसान भाइयों को एक ऐसी सीख देने जा रहे हैं, जिससे वे खेती करने के साथ-साथ, अपने घर बैठे अपना सोलर बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं और हर महीने एक अच्छी आय सुनिश्चत कर सकते हैं। जानिए कैसे :

दूसरे किसानों को भी करें प्रेरित

यदि आप सोलर एनर्जी के प्रति जागरूक हैं, तो आप इसका इस्तेमाल कर अपनी और पर्यावरण की मदद तो कर ही सकते हैं। लेकिन, इसके प्रति दूसरे किसानों को प्रेरित कर, आप समाज में बदलाव की एक नई मुहिम छेड़ सकते हैं और हर महीने लाखों की कमाई अर्जित कर सकते हैं।

यह कैसे होगा संभव?

यदि किसी किसान के पास 7.5 एचपी की मोटर है, तो उन्हें बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनने के लिए करीब 10 किलोवाट के सोलर पैनल की जरूरत पड़ेगी। यदि किसी किसान ने एक बार सोलर पैनल खरीद लिया, तो वे अपने आस-पास के कई किसानों को इसके लिए प्रेरित कर सकते हैं।

बता दें कि लूम सोलर कंपनी, देश के दूरदराज में सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए और रोजगार के और अधिक साधन को विकसित करने के लिए अपना डीलरशिप और डिस्ट्रीब्यूटरशिप प्रोग्राम चलाती है और इच्छुक किसान इससे जुड़ कर, अपने जीवन को एक नई ऊँचाई दे सकते हैं।

कितना होगा फायदा?

यदि कोई किसान सोलर सेक्टर में जुड़ कर, एक डीलर या डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में काम करना चाहते हैं, तो यह उनके लिए काफी अच्छा मौका है। क्योंकि, इस सेक्टर में प्रॉफिट मार्जिन 10 से लेकर 25 फीसदी के बीच है और सरकार का अच्छा 2035 तक, देश में सोलर एनर्जी क्षमता को सात गुना तक आगे बढ़ाना है। इस लिहाज से, आने वाले कुछ वर्षों में इस फिल्ड में कमाई के और अधिक साधन विकसित होंगे।

पड़ेगी ट्रेनिंग की जरूरत

किसी भी किसान के लिए सोलर सेक्टर बिल्कुल नया फिल्ड महसूस हो सकता है। इसलिए उन्हें इसमें आगे बढ़ने के लिए एक ट्रेनिंग की जरूरत होगी।

लूम सोलर, लोगों को सोलर सेक्टर से जोड़ने के लिए हर शनिवार को ‘Learn Solar’ नाम से एक ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन करती है। इसमें विभिन्न माध्यमों के लिए कम से कम 1000 लोग हिस्सा लेते हैं।

इस दौरान उन्हें मार्केटिंग, इस्टालेशन, रिपेयरिंग जैसे सभी विषयों में गहराई से ट्रेनिंग दी जाती है। कंपनी के साथ फिलहाल पूरे देश में 3500 से भी अधिक डीलर्स जुड़े हुए हैं और अच्छी कमाई कर रहे हैं। 

कितना होगा खर्च?

यदि कोई किसान लूम सोलर की डीलरशिप हासिल करना चाहते हैं, तो उन्हें 1000 की रजिस्ट्रेशन फीस चुकानी होगी। वहीं, डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए 5000 रुपये। एक बार कंपनी की डीलरशिप या डिस्ट्रीब्यूटरशिप हासिल करने के बाद, आप अपने इलाके के बिजनेस आंत्रेप्रेन्योर बन जाएंगे।

दुकान की पड़ेगी जरूरत

कंपनी के साथ एक डीलर या डिस्ट्रीब्यूटर के तौर पर काम करने के लिए किसी के पास 10x10 की एक दुकान होनी जरूरी है, ताकि वे अपने पास ग्राहकों को दिखाने के लिए कुछ सोलर सिस्टम रख सकें। इससे यदि किसी ग्राहक को कोई परेशानी होती है या उन्हें कोई जानकारी चाहिए, तो आप एक स्थानीय केन्द्र के रूप में उनके लिए काम कर सकते हैं।

बता दें कि लूम सोलर कंपनी अपने सभी ग्राहकों ग्राहकों को कंपनी चौबीसों घंटे ऑनलाइन सपोर्ट की सुविधा भी देती है। इसके अलावा, कंपनी अपने साथ जुड़ कर काम कर रहे सभी लोगों को ऑनलाइन और ऑफलाइन, दोनों माध्यमों के जरिए पूरी मदद करती है।

कैसे जुड़ें?

1. डीलरशिप / डिस्ट्रीब्यूटर्स के तौर पर जुड़ने के लिए या अधिक जानने के लिए https://www.loomsolar.com/collections/dealers-distributor-business-opportunities-in-india पर क्लिक करें।

 
2. इन्फ्लुएंसर के तौर पर लूम सोलर से जुड़ने के लिए https://www.loomsolar.com/pages/become-an-affiliate-earn-money पर क्लिक करें।

    Leave a comment

    ਸਭ ਤੋਂ ਵੱਧ ਵਿਕਣ ਵਾਲੇ ਉਤਪਾਦ