अपने Resort को बनाना चाहते हैं बिजली के मामले में आत्मनिर्भर, अपनाएं ये तरीके!

भारत में लोग अपनी छुट्टियों को मनाने के लिए किसी रिसॉर्ट में जाना काफी पसंद करते हैं। देश में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, गोवा, असम, मध्य प्रदेश, कर्नाटक जैसे कई राज्यों में शानदार रिसॉर्ट्स हैं, जहाँ लोगों को भागदौड़ भरी जिंदगी से काफी सुकून मिलता है।

आमतौर पर, किसी रिसॉर्ट को वैसे जगह पर बनाया जाता है, जो जहाँ कोई हिल स्टेशन हो और ये अक्सर किसी शहर से 10-15 किलोमीटर दूर होते हैं। ये वैसे जगह पर होते हैं, जहाँ प्राकृतिक हरियाली काफी ज्यादा हो। इन रिसॉर्ट्स को अमूमन कोई बिजनेसमैन बनाते हैं।

चूंकि, रिसॉर्ट्स शहर से काफी दूर होते हैं, इसलिए उन तक सरकारी सुविधाओं को पहुँच भी आसानी से नहीं हो पाती है और उन्हें बिजली, सड़क, आदि का इंतजाम खुद ही करना पड़ता है।

सबसे पहली जरूरत है बिजली

चीजों को जुटाने की कड़ी में, बिजली सबसे पहले स्थान पर आता है। क्योंकि, इसके बिना आप रिसॉर्ट में न तो लाइट जला सकते हैं और न ही पानी का इंतजाम हो सकता है।

चूंकि, रिसॉर्ट्स ऐसे जगह पर होते हैं, जो कोई हिल स्टेशन हो और वहाँ पेड़-पौधे अधिक होने के कारण मौसम भी काफी अनिश्चित होता है और कभी भी बारिश हो सकती है।

जैसा कि लोग उत्तर भारत में सामान्य रूप से एक दिन में कम से कम 10 घंटे धूप का आनंद लेते हैं, लेकिन हिल स्टेशन वाले इलाकों में लोगों को औसतन 5 से 6 घंटे की धूप मिलती है।

इन्हीं चुनौतियों को देखते हुए, उन्हें ऐसा पावर बैकअप सॉल्यूशन चाहिए, जो दिन में तेजी से चार्ज हो और रात में आप उसका इस्तेमाल कर सकें।

Off Grid Solar System से बनेगी बात 

अब ग्राहकों को ऐसी स्थिति में ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम की जरूरत पड़ेगी। क्योंकि, पावर बैकअप सॉल्यूशन के तौर पर जनरेटर को अपनाना काफी महंगा साबित होगा और इससे पर्यावरण को काफी नुकसान होता है।

चूंकि, रिसॉर्ट्स अपने-आप में काफी लग्जरी होते हैं। इसलिए उन्हें ऐसे बैटरी की जरूरत होगी, जिसे ज्यादा रखरखाव की जरूरत न हो और वह काफी तेजी से चार्ज हो।

इसकी वजह यह होती है कि वहाँ देखभाल करने वाले लोगों की काफी कमी होती है और फास्ट चार्जिंग इसलिए चाहिए कि धूप की कमी होती है।

कौन सी बैटरी लें?

अपनी बैटरी की सुविधा को पूरा करने के लिए आपको बिना एक मिनट सोचे लूम सोलर के CAML 100 बैटरी को अपनाना चाहिए। इस लिथियम आयन बैटरी को रखरखाव की कोई जरूरत नहीं है और यह आपको चार बैटरी के बराबर अकेले पावर देगा।

यह बैटरी IOT पर आधारित है और इसे आप अपने मोबाइल या कम्प्यूटर से कहीं से भी आसानी से कंट्रोल कर सकते हैं।

Fusion Inverter लें 

लूम सोलर का Fusion Inverter 80 एम्पीयर के चार्जर के साथ आता है और भारत में अभी तक इतना शक्तिशाली इन्वर्टर आया ही नहीं है। देश में जितने भी ऑफ ग्रिड कंपनियां हैं, वे ज्यादा से ज्यादा 20 एम्पीयर का चार्जर देते हैं।

फ्यूजन इन्वर्टर आपकी बैटरी को सिर्फ डेढ़ घंटे में ही फुल चार्ज कर देता है।

किस तरह के सोलर पैनल की जरूरत पड़ेगी?

अपने बैटरी और इन्वर्टर को चलाने के लिए अब आपको एक ऐसे सोलर पैनल की जरूरत पड़ेगी, जो कम धूप और आसमान में बादल छाए रहने के बावजूद आपको पूरी बिजली बनाकर दे।

इस स्थिति में आप लूम सोलर के Shark Solar Panel को प्राथमिकता दें, जो कम धूप में भी आपको अधिकतम बिजली बनाकर देगा।

कितने सोलर पैनल की पड़ेगी जरूरत?

किसी भी रिसॉर्ट में आमतौर पर टीवी, पंखा, फ्रिज, लाइट आदि चीजों के लिए बिजली की जरूरत पड़ती है और वहाँ एसी की कोई जरूरत नहीं होती है।

इसलिए यदि आप 4500 वाट का सोलर सिस्टम अपनाते हैं, तो आपकी सभी जरूरतें पूरी हो जाएगी। इसलिए लिए आप शार्क पैनल के 530 वाट या 440 वाट के मॉडल को पसंद कर सकते हैं। 

इससे आप सालों-साल के लिए 24x7 बिजली के मामले में बिल्कुल आत्मनिर्भर हो जाएंगे।

कितना आएगा खर्च?

यदि  5 किलोवाट के सिस्टम में आप किसी दूसरी कंपनी को प्राथमिकता देते हैं, तो आपको करीब 10 बैटरी की जरूरत पड़ती है। और इस पूरे सिस्टम को खरीदने में आपके 7 से 8 लाख रुपये आसानी से खर्च हो जाते हैं। 

लेकिन लूम सोलर आपकी उन्हीं जरूरतों को करीब 4.5 लाख रुपये में पूरी कर सकता है।

वहीं, यदि आपको कभी ओवरलोडिंग की दिक्कत आती है, तो आप कई नई बैटरियों को खरीदने के बजाय, सिर्फ एक इन्वर्टर ले लीजिए। जिसमें आपकी कम से कम एक तिहाई पैसे की बचत होगी।

निष्कर्ष

तो, अब तक आपको समझ में आ गया होगा कि यदि आप अपने रिसॉर्ट में सोलर पैनल अपनाना चाहते हैं, तो आपको क्या कदम उठाने की जरूरत है। यदि आप अपने साइट में, एक्सपर्ट गाइड चाहते हैं, तो लूम सोलर से संपर्क करें। हमारे इंजीनियर आपके यहाँ जाकर, आपकी सभी जरूरतों को समझते हुए, सोलर की ओर शिफ्ट करने में आपकी पूरी मदद करेंगे।

Leave a comment

ਸਭ ਤੋਂ ਵੱਧ ਵਿਕਣ ਵਾਲੇ ਉਤਪਾਦ