क्यों और कब मनाया जाता है International Labour Day?

पूरी दुनिया में हर साल 1 मई को ‘अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस’ (International Labour Day) के रूप में मनाया जाता है। कई लोग इसे ‘मई दिवस’ के नाम से भी जानते हैं। इस दिन लोग मजदूरों के संघर्षों और बलिदानों को याद करते हैं और उन्हें अपने अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस का इतिहास (International Labour Day History)

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस की शुरुआत अमेरिका से हुई थी। साल 1889 में समाजवादी समूहों और ट्रेड यूनियनों के एक अंतर्राष्ट्रीय महासंघ ने शिकागो में हुई ‘हे मार्केट’ (Haymarket) घटना को याद करते हुए श्रमिकों के समर्थन में 1 मई को ‘मई दिवस’ के रूप में मनाने का ऐलान किया था। दरअसल, Haymarket में कुछ श्रमिक अपने अधिकारों की रक्षा के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन पुलिस से उनकी झड़प हो गई और कई लोगों की जान चली गई। इस घटना में मरे श्रमिकों को "हे मार्केट शहीद" के रूप में सम्मानित किया गया।

भारत में सबसे पहली बार मजदूर दिवस कब मनाया गया? (Labour Day in India)

भारत में मजदूर दिवस का सबसे पहला आयोजन  1 मई, 1923 को मद्रास (अब चेन्नई) में हुआ। इस पहल की शुरुआत ‘लेबर किसान पार्टी’ के अध्यक्ष सिंगारावेलु द्वारा की गई थी। 

मजदूरों के अधिकारों की रक्षा के लिए अंतरराष्ट्रीय संस्था (International organization for the protection of workers' rights)

श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन की स्थापना की गई है। यह संगठन संयुक्त राष्ट्र के अंतर्गत काम करती है।

भारत में मजदूरों से संबंधित प्रावधान (Labor related provisions in India)

भारतीय संविधान में श्रमिकों के हितों और अधिकारों की रक्षा के लिए अनुच्छेद 14, अनुच्छेद 19(1) (ग), अनुच्छेद 21, अनुच्छेद 23, अनुच्छेद 24, अनुच्छेद 39 (क), अनुच्छेद 41, अनुच्छेद 42, अनुच्छेद 43, अनुच्छेद 43 क जैसे कई प्रावधान किये गए हैं। इसके अलावा सरकार द्वारा उनकी रक्षा के लिए सामाजिक सुरक्षा संहिता 2020,  व्यावसायिक सुरक्षा, स्वास्थ्य और कार्य स्थिति सहिंता 2020, औद्योगिक संबंध संहिता 2020 जैसे कई विधेयकों को भी पारित किया गया है।

मजदूर दिवस 2023 कोट्स (Labour Day Quotes 2023) 

  1. “मजदूर अपने मेहनत के बल पर मिट्टी से भी सोना उगा लेते है।”
  2. “काम पर एक बुरा दिन नरक में एक अच्छे दिन की तुलना में बेहतर है।”
  3. “परेशानियां बढ़ जाए तो इंसान मजबूर होता है

श्रम करने वाला हर व्यक्ति मजदूर होता है

मजदूर दिवस 2023 की शुभकामनाएं।”

4. “किसी देश का विकास उस देश के कामगारों और किसानों पर निर्भर करता है।”

5. “हाथो में लाठी हैं

मजबूत उसकी कद-काठी हैं

हर बाधा वो कर देता हैं दूर

दुनिया उसे कहती हैं मजदूर

मजदूर दिवस की शुभकामनाएं।”

6. “परम सुख और ख़ुशहाली का एक राज़ और शानदार नुस्खा है कि अपने मन को हमेशा कार्यरत रखो।”

7. “यदि धन के लिए परिश्रम करने की आवश्यकता नहीं हैं तो भी स्वास्थ्य के लिए परिश्रम जरूर करना चाहिए।”

8. “अमीरी में अक्सर अमीर अपने सुकून को खोता है,

मजदूर खा के सूखी रोटी बड़े आराम से सोता है।

मजदूर दिवस 2023 की हार्दिक शुभकामनाएं।”

9. “अपने कर्म का आनंद लेने वाले ही अपने कार्य को सही तरीके से कर सकते हैं।”

10. “किसी को क्या बताएं कितने मजबूर हैं हम,

बस इतना समझ लीजिए कि मजदूर हैं हम,

अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस 2023 की शुभकामनाएं।”

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि ‘अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस’ (International Labour Day) विषय पर आधारित यह लेख आपको पसंद आएगा। यदि आप ऐसे ही विषयों के बारे में अधिकतम जानकारी हासिल कर अपना ज्ञानवर्धन करना चाहते हैं, तो नियमित रूप से हमारे साथ बने रहें।

International labour dayInternational labour day historyInternational organization for the protection of workers' rightsLabor related provisions in indiaLabour day in indiaLabour day quotes 2023अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवसअंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस 2023मजदूर दिवस 2023मजदूर दिवस का इतिहासमजदूर दिवस संदेश 2023

Leave a comment

সর্বাধিক বিক্রিত পণ্য

জনপ্রিয় পোস্ট

  1. Buying a Solar Panel?
  2. Top 10 Solar Companies in India, 2023
  3. This festive season, Power Your Home with Solar Solutions in Just Rs. 7000/- EMI!
  4. Top Lithium Battery Manufacturers in World, 2023
  5. How to Install Rooftop Solar Panel on Loan?